लिव लव लाफ...

व्यग्रता

डर की भावना, व्याकुलता या जब आप चुनौतीपूर्ण करने या जीवन बदलने वाले निर्णय लेने के बारे में सोचने में घबराहट का अनुभव करते हैं, तो यही व्यग्रता है। हर कोई व्यग्रता का अनुभव करता है, यह पूरी तरह से एक सामान्य अनुभव है।

यदि आप अक्सर चिंतित महसूस कर रहे हैं, और यह आपकी नींद या दैनिक जीवन के रास्ते में आ रही है, तो आप गंभीर व्यग्रता का अनुभव कर रहे हैं।
व्यग्रता को समझें
आप अकेले नहीं हैं। ऐसे अन्य लोग हैं, जिनके पास ऐसे ही सवाल, व्यग्रताएं और संदेह हैं।किसी चिकित्सक को ढूंढें  हेल्पलाईन

व्यग्रता के प्रकार

आप एक से अधिक प्रकार की व्यग्रता का अनुभव कर सकते हैं।
आप किस प्रकार की व्यग्रता का अनुभव कर रहे हैं यह समझना ठीक होने के लिए पहला कदम है।
Generalized Anxiety Disorder (GAD)

सामान्यकृत व्यग्रता विकार (जीएडी)

जीएडी व्यग्रता का सबसे सामान्य रूप है। यह एक अत्यधिक, तीव्र और बेतुकी व्यग्रता है, जो आमतौर पर रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़ी होती है। जीएडी के साथ लोग रोज़मर्रा की चीजों जैसे कि पैसे, दोस्ती, स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों, काम और जीवन से जुड़ी दुर्घटनाओं की आशंका जाहिर करते हैं।
जीएडी के शारीरिक प्रभावों में थकान, मतली, सिरदर्द, मांसपेशियों में तनाव, बेचैनी, अनिद्रा और पसीना शामिल है।
Panic Disorder

आकस्मिक भय विकार

यदि आप निरंतर हलचल पैदा करने वाले हमलों का अनुभव कर रहे हैं, तो संभव हो सकता है कि आपको आकस्मिक भय विकार है इस विकार के साथ-साथ व्यवहार में बदलाव भी होता है जैसे कि बेचैनी। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पीड़ित एक अगले हमले की आशंका कर रहा है।
आकस्मिक भय विकार के शारीरिक प्रभावों में तेजी से दिल का धड़कना, पसीना, चक्कर आना, हाइपरवेंटिलेशन, छाती का दर्द और रोना शामिल है।
Social Phobia

सामाजिक भय

हो सकता है आपने अपने जीवन में कम से कम एक बार मंच पर जाने का भय या शर्म महसूस की होगी। यह बिल्कुल सामान्य है, लेकिन अगर आप पूरी तरह से लोगों के आसपास होने से डरते हैं, तो हो सकता है आप सोशल फ़ोबिया का सामना कर रहे हों। सोशल फ़ोबिया एक सामाजिक स्थिति में होने और अन्य लोगों द्वारा आपको आंके जाने की लगातार सोच का गहन भय है।
यदि आप साथी के साथ घूमने, पार्टी, बैठकों और लोगों के समूह के साथ बाहर जाने से डरते हैं, तो हो सकता है आपको सामाजिक भय का सामना करना पड़ रहा है।
Post Traumatic Stress Disorder (PTSD)

आघात के बाद का तनाव विकार (पी टी एस डी)

यदि आपको अतीत में अस्त-व्यस्त कर देने वाली शारीरिक, या भावनात्मक परेशानी का अनुभव हुआ है और आप उस स्मृति को दोबारा ध्यान में लाते रहते हैं, तो हो सकता है कि आप पोस्ट ट्रॉमैटिक तनाव विकार से गुजर रहे हैं। पीटीएसडी, जीवन की किसी दर्दनाक घटना के बाद और कभी-कभी तो घटना के कई वर्षों बाद तक रहता है। यदि आपको लगता है कि आप पीटीएसडी से प्रभावित हैं, तो सबसे अच्छी सलाह यह है कि आप किसी पेशेवर से संपर्क करें।
पीटीएसडी के शारीरिक प्रभावों में गंभीर अनिद्रा और निरंतर होने वाली थकान शामिल है।
Obsessive Compulsive Disorder (OCD)

सनक से भरा बाध्यकारी विकार (ओसीडी)

यदि आप कुछ विशेष प्रकार के ही विचार रखते हैं या किसी निश्चित क्रिया को बार-बार दोहराते हैं और उन्हें नियंत्रित करने में असमर्थ होते हैं, तो आपको ओसीडी से पीड़ित हो सकते हैं। किसी एक विशेष प्लेट में ही भोजन करना मामूली ओसीडी हो सकता है, लेकिन उस प्लेट के न मिलने पर भोजन ही न करना तीव्र ओसीडी है।
ओसीडी के बहुत गंभीर मामलों के उदाहरण हैं - प्रत्येक 10 मिनट में हाथों को धोना और दरवाज़ा बंद होने के बाद भी लगातार जांचना। मूल रूप से एक सनक, जो दैनिक जीवन को प्रभावित करती है।

व्यग्रता के कारण

विभिन्न प्रकार की व्यग्रताओं के अलग-अलग लक्षण हैं हालांकि, सामान्य रूप से व्यग्रता के कुछ विशिष्ट लक्षण हैं, जो आसानी से पहचाने जा सकते हैं।
External Causes

बाहरी कारण

दुर्घटनाएं, शारीरिक शोषण, यौन उत्पीड़न, युद्ध अनुभव
Internal Causes

आंतरिक कारण

अत्यधिक व्यग्रता, अनावश्यक सनक, आघात

क्या चीज व्यग्रता को बढ़ा सकती है

जब लंबे समय तक व्यग्रता पर ध्यान नहीं दिया जाता तब इसके साथ कई सह मौजूदा स्थितियों मिलकर बिगड़ सकती हैं। इसके बाद उस व्यक्ति को अधिक नकारात्मकता का सामना करना पड़ सकता है जिससे यह और अधिक जटिल हो जाता है। परिस्थितियों को जानते हैं जो व्यग्रता के साथ मिलकर पैदा हो सकती हैं।

अवसाद

व्यग्रता और अवसाद अक्सर एकजुट होते हैं। गंभीर अवसाद वाले लोगों में से कम से कम 85% लोगों में व्यग्रता के महत्वपूर्ण लक्षण भी होते हैं

व्याकुलता

बार-बार होने वाले लक्षण व्याकुलता, आंतरिक तनाव या मानसिक पीड़ा के होते है।

आकस्मिक भय के हमले

अवसादग्रस्त लोगों में से 33% लोग अपनी अवसादग्रस्तता की घटनाओं के दौरान आकस्मिक भय के हमलों का अनुभव करते हैं।

सामान्यकृत व्यग्रता विकार (जीएडी)

गंभीर अवसादग्रस्त लोगों में सामान्यकृत व्यग्रता विकार (जीएडी) के होने का प्रतिशत कहीं ज्यादा है।

निदान और उपचार

विभिन्न प्रकार की व्यग्रताओं के अलग-अलग लक्षण हैं हालांकि, सामान्य व्यग्रता में कुछ विशिष्ट लक्षण हैं जो आसानी से पहचाने जा सकते हैं। हर कोई व्याकुल रहता है या बटरफ्लाईस इन स्टोमैक जैसे अजीब मामले का सामना करता है। लेकिन क्या आप डर और व्यग्रताओं के कारण खुशी या अन्य अवसरों को खो देते हैं? क्या व्यग्रता आपके जीवन में दखल देती है? मध्यम व्यग्रता सीमित रूप में हो सकती है, जबकि गंभीर व्यग्रता अशक्त कर देने वाली हो सकती है

इस परीक्षण के जरिए अपनी व्यग्रता के स्तर का एक बेहतर परिप्रेक्ष्य हासिल करें

मैं अपनी मदद कैसे कर सकता हूं

आप व्यग्रता का अनुभव कर रहे हैं यह स्वीकार करना, जल्द ठीक होने की दिशा में यह पहला कदम है। आप सही जगह पर आ गए हैं, आप अपनी ज़रूरत की सभी मदद यहां पा सकते हैं।
Talk to someone

किसी से बात करें

यदि आप जानते हैं कि आप किस प्रकार की व्यग्रता का अनुभव कर रहे हैं, तो आप इसके बारे में किसी मित्र या परिवार के किसी सदस्य से बात कर सकते हैं।
Hospital

Sव्यावसायिक मदद लें

यदि आपकी व्यग्रता इतनी गंभीर है कि दोस्त और परिवार के सदस्य आपकी मदद नहीं कर सकते, तो आप एक मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ से मिल सकते हैं।
फिर से पूछिए। कि तुम्हें पता है “मैं ठीक हूं, धन्यवाद” क्या सही नहीं है।#DobaraPoocho

मैं किसी और की मदद कैसे कर सकता हूँ

व्यग्रता का सामना करने वाले किसी व्यक्ति के साथ बातचीत करते समय आप भ्रमित, असहाय या निराश महसूस कर सकते हैं।
Listen

बात सुनें

कभी-कभी, व्यक्ति चाहता है कि कोई ऐसा व्यक्ति हो जो उसकी कहानी सुने। पर्याप्त समय लेकर आप उसकी बात सुनें कि वह क्या कहना चाहता है। बस एक खुले दिमाग और गैर-अलोचनात्मक तरीके से उसे सुनें।
Use physical gestures

शारीरिक इशारों का उपयोग करें

मुस्कुराते हुए, हाथ पकड़ते हुए, गले लगाते हुए, कंधा बढ़ाते हुए आदि ऐसे इशारे हैं, जो तनाव के स्तर को नीचे लाने में मदद करते हैं। अपने लाभ के लिए उन्हें इस्तेमाल करें
Play games

मज़ेदार गतिविधियों में शामिल करें

यह बहुत अच्छा होगा यदि आप उस व्यक्ति को उस गतिविधि में शामिल होने की पेशकश कर सकते हैं जिसका वह आनंद लेता/लेती है - यह मॉर्निंग वॉक हो सकता है, उसके पसंदीदा रेस्तरां में भोजन का आनंद लेना, या एक नाटक देखने बाहर जाना या फिर कहीं बाहर की यात्रा पर जाना हो सकता है।
Follow up

आगे की कार्रवाई

उन्हें दिखाएं कि आप वास्तव में उनकी देखभाल करते हैं। हो सकता है कि हर बार वे इसे पसंद नहीं करें, लेकिन आपको लगातार उनके संपर्क में रहना होगा।
Seek help

सहायता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करें

व्यक्ति को बताएं कि सहायता लेना एक अच्छा उपाय है और उन्हें समझाएं कि यह किस तरह फायदेमंद है। यह बेहतर होगा यदि आप व्यक्ति को मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर से समय लेने के लिए समझाएं और उनके साथ वहां जाने की पेशकश भी कर सकते हैं।

FAQs

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
व्यग्रता किन चीजों से बढ़ती है?
कई कारण हैं जो व्यग्रता को बढ़ाते हैं। यह आनुवंशिक, मनोवैज्ञानिक या पिछला दर्दनाक अनुभव हो सकता है।
मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे व्यग्रता संबंधी विकार है?
यदि आप रोज़मर्रा की स्थितियों और चुनौतियों को लेकर अत्यधिक चिंतित रहते हैं, तो आप व्यग्रता विकार से पीड़ित हो सकते हैं। आप एक सामान्य प्रश्नोत्तरी कर सकते हैं, यह पता लगाने के लिए कि आप किस प्रकार के व्यग्रता विकार से जूझ रहे हैं।
क्या व्यग्रता संबंधी विकार का कोई इलाज है?
व्यग्रता विकार का इलाज दवा, परामर्श और कभी-कभी दोनों के संयोजन के माध्यम से किया जा सकता है। आपको अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। हालांकि, आपको मनोचिकित्सीय सत्रों के लिए जाना पड़ सकता है और जब तक बेहतर नहीं हो जाते तब तक आपको निर्धारित दवाएं लेना जारी रखना पड़ सकता है।
पहली बार अपने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ से मिलने जाने पर मुझे उनसे क्या कहना चाहिए?
  • आप जिस किसी भी व्यवहार परिवर्तन या लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं उन्हें लिख लीजिए।
  • यदि आप कोई भी अवसादरोधी दवा ले रहे हैं, तो उन्हें अपने साथ ले जाएं।
  • अपने दिमाग में उठ रहे सभी प्रश्नों को अपने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ से पूछें।
  • अपने साथ किसी मित्र या परिवार के सदस्य को ले जाएं।
  • अपनी बातों को पूरी तरह अभिव्यक्त करें और अपने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ को बताएं कि आपको क्या लगता है।

एक शारीरिक बीमारी के विपरीत, व्यग्रता विकार को अकेले आपके चिकित्सक द्वारा दिए गए इलाज के जरिए पूरी तरह ठीक नहीं किया जा सकता है उनकी मदद से आपको बेहतर होने की दिशा में खुद भी काम करना चाहिए। अपने चिकित्सक द्वारा दिए गए इलाज पर दृढ़ रहें और जब तक आपको अन्यथा सलाह नहीं दी जाती, मनोचिकित्सीय सत्र में शामिल होना न छोड़ें, भले ही आप अच्छा महसूस कर रहे हों।
व्यग्रता विकार के लिए मुझे पेशेवर की सहायता कहां मिल सकती है?
आप अपनी स्थिति के आधार पर मनोविज्ञानी, मनोचिकित्सक या मनोरोग विशेषज्ञ से परामर्श कर सकते हैं। आपका सामान्य चिकित्सक आपकी सहायता करने में सक्षम नहीं होगा, लेकिन एक विशेषज्ञ सही सुझाव दे सकता है। आप एक चिकित्सक यहाँ भी पा सकते हैं।
Are stress and anxiety the same?
बहुत सारी पुस्तकें और वेबसाइट्स हैं, जहां से आप व्यग्रता के बारे में जानकारी ले सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए नीचे हमारे अपडेट्स अनुभाग पर एक नज़र डालें।
X