लगभग 10 करोड़ भारतीय अपने जीवनकल में अवसाद और चिंता का अनुभव करते हैं।

अवसाद और चिंता सबसे आम दो बीमारियाँ हैं, और किसी भी अन्य बीमारी की तरह, इनका भी इलाज किया जा सकता है।

लिवलवलाफ हर उस व्यक्ति को उम्मीद देना चाहता है जो तनाव, चिंता और अवसाद का सामना कर रहा है|

“मानसिक बीमारी के कारण एक भी जान नहीं जानी चाहिए।”

दीपिका पादुकोण, संस्थापक

प्रभाव

  • स्कूल कार्यक्रम
    197,000+
    छात्रों को शिक्षित किया गया
  • स्कूल कार्यक्रम
    20,000+
    शिक्षकों को संवेदनशील बनाया गया
  • ग्रामीण कार्यक्रम
    3,297
    जीवन प्रभावित
  • डॉक्टरों के लिए कार्यक्रम
    2,383
    डॉक्टरों को प्रशिक्षण

हेल्पलाइन

#आप अकेले नहीं हैं

लिव लव लाफ

प्रोग्राम पार्टनर

हमारे मेलिंग सूची में शामिल हों

बदलाव का हिस्सा बनें

दान करें